बच्चों का वो कातिल, जिसे मिली है 1853 साल कैद की सजा - News Box India
Connect with us

Hindi

बच्चों का वो कातिल, जिसे मिली है 1853 साल कैद की सजा

Published

on



बच्चों का वो कातिल, जिसे मिली है 1853 साल कैद की सजा | Specials Podcast

































बेहतर अनुभव के लिए अपनी सेटिंग्स में जाकर हाई मोड चुनें।

लुईस गारावितो


Play

7:45

लुइस को मानव इतिहास में सबसे क्रूर हत्यारों में से एक माना जाता है। अधिकारियों की मानें तो लुईस ने 1992 से 1999 के बीच 140 बच्चों की हत्या की।  लुईस के निशाने पर 8 से 16 साल की उम्र के लड़के होते थे।


बच्चों का वो कातिल, जिसे मिली है 1853 साल कैद की सजा

X

सभी 28 एपिसोड

लुइस को मानव इतिहास में सबसे क्रूर हत्यारों में से एक माना जाता है। अधिकारियों की मानें तो लुईस ने 1992 से 1999 के बीच 140 बच्चों की हत्या की।  लुईस के निशाने पर 8 से 16 साल की उम्र के लड़के होते थे।

जैक द रिपर एक बेहद खौफनाक हत्यारा था। वह सिर्फ नशे में धुत्त बार बालाओं को ही अपना शिकार बनाता था। साल 1888 के दौरान वह उनकी हत्या कर अंग निकाल लेता था। आखिर वह कौन था और क्यों बार बालाओं की हत्या करता था। लंदन में साल 1888 में इस सीरियल किलर का काफी खौफ था। 

दुर्लभ कश्यप एक ऐसा अपराधी जिसने सोशल मीडिया को क्राइम विज्ञापन की तरह इस्तेमाल किया। अपने फेसबुक पेज पर अपने बॉयोडाटा में वह खुले तौर पर लिखता की हमारे यहां हत्या ,रंगदारी,हर तरह के मामलों का निपटारा किया जाता है। 16 साल की उम्र में अपराद जगत में उसकी तूती बोलने लगी।

अनातोली मोस्कविन को साल 2011 में गिरफ्तार किया गया था, जब ये सामने आया था कि उसने कब्रिस्तान से तीन से 12 साल की उम्र की लड़कियों की लाशें निकाली थीं। इन लड़कियों के शवों को ये सनकी इतिहासकार अपने घर ले जाता था और उन्हें सजाकर रखता था। इस अपराधी के घर से पुलिस ने एक दो नहीं बल्कि 26 लड़कियों के शव बरामद किया था।

कार्लोस द जैकाल’ का असली नाम इलिच रामिरेज़ सान्चेज़ है। लेकिन अपराध की दुनिया में ये खुद को ‘कार्लोस द जैकाल’ कहलाना ही पसंद करता है। इसने वैसे तो कई अपराध किए लेकिन 11 देशों के 60 से ज्यादा मंत्रियों को बंधक बनाकर इस आतंकवादीअंतरराष्ट्रीय पर सुर्खियां बटोरी।

अमेरिका का कुख्यात सीरियल किलर थियोडोर रॉबर्ट बंडी उर्फ टेड बंडी एक ऐसा सिरफिरा अपराधी था। जिसने सीरियल किलिंग, रेप, किडनैपिंग और चोरी जैसे संगीन अपराधों को अंजाम दिया। इसके निशाने पर ज्यादातर महिलाएं होती थी। वो उनके साथ  रेप करके उन्हें दर्दनाक मौत देता था। उसके अपराधों के लिए उसे कड़ी सजा हुई और उसकी मौत तड़प-तड़प कर हुई थी।

देश का दहला देने वाला सबसे सनसनीखेज निठारी हत्याकांड अब भी आपके दिलो दिमाग में याद होगा। दिसंबर 2006 में हुए इस कांड के खुलासे ने लोगों को हिला कर रख दिया था। हर पल रौंगटे खड़े करने वाले खुलासे हो रहे थे। यहां एक नाले में इतना नर कंकाल निकला कि पुलिस को उसे ठिकाने लगाने में मुश्किलें पैदा होने लगी। रहस्यों से परत हटती गई और एक बड़ा सच दुनिया के सामने आ गया।

2 जुलाई 1995 की वह भयानक रात जब एक रेस्तरां से आग की लपटें निकल रही थीं। यहां एक महिला का शव तंदूर में जल रहा था। देश के इतिहास का ये एक ऐसा मामला था जिसने ना केवल राजधानी दिल्ली, बल्कि पूरे देश को हिला कर रख दिया था। आइए जानते हैं क्या थी ये दिल दहला देने वाली वारदात?

19वीं शताब्दी की शुरुआत में दुनिया भर के देशों में ऐसे कई ठगों के गिरोह हुए, जो अपनी साहसिक, रोमांचकारी और आश्चर्य से भर देने वाले कारनामों के कारण आज भी याद किए जाते हैं। इन्हीं में से एक ठग था ‘विक्टर लस्टिग’,जिसने तब ठगी के सारे रिकॉर्ड ही तोड़ डाले, जब उसने एफिल टॉवर ही बेच दिया।

आज से लगभग पांच दशक पहले जब इस अपराधी की उम्र महज 21 साल की थी। तभी उसने जिंदगी में किसी इंसान के कत्ल की पहली वारदात को अंजाम दिया था, उसके बाद इस खूंखार सीरियल किलर ने साल 1974 से 1978 के बीच महज चार साल में 4 बेकसूर लोगों को एक के बाद एक कत्ल कर डाला। 

© 2021-22 Amar Ujala Limited



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Categories