Connect with us

Hindi

Jabalpur: A Five-year-old Boy Became A Policeman In Katni, Appointed As The Youngest Child Constable Of The State – जबलपुर: कटनी में पांच साल का बालक बना पुलिसकर्मी, प्रदेश का सबसे छोटा बाल आरक्षक नियुक्त

Published

on


{“_id”:”6218ecb3dabaef075e38e90d”,”slug”:”jabalpur-a-five-year-old-boy-became-a-policeman-in-katni-appointed-as-the-youngest-child-reservation-in-the-state”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”जबलपुर: कटनी में पांच साल का बालक बना पुलिसकर्मी, प्रदेश का सबसे छोटा बाल आरक्षक नियुक्त”,”category”:{“title”:”City & states”,”title_hn”:”शहर और राज्य”,”slug”:”city-and-states”}}

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जबलपुर
Published by: दिनेश शर्मा
Updated Fri, 25 Feb 2022 08:21 PM IST

सार

मध्य प्रदेश के कटनी जिले की पुलिस फोर्स में महज पांच वर्ष के बच्चे को बाल आरक्षक के पद पर नियुक्ति प्रदान की गई है। पूरे प्रदेश सबसे छोटी उम्र के बाल आरक्षक को एसएसपी सुनील जैन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया है। बाल आरक्षण को आधा वेतन सहित अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।
 

बाल आरक्षक को एसएसपी सुनील जैन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया है।

बाल आरक्षक को एसएसपी सुनील जैन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया है।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

महज पांच वर्ष के बच्चे को बाल आरक्षक के पद पर नियुक्ति प्रदान की गई है। मामला कटनी जिले का है। पूरे प्रदेश सबसे छोटी उम्र के बाल आरक्षक को एसएसपी सुनील जैन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया है। बाल आरक्षण को आधा वेतन सहित अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

कटनी एसएसपी सुनील कुमार जैन के अनुसार नरसिंहपुर जिले में श्याम सिंह मरकाम प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ थे। वे पुलिस वाहन चालक थे और हार्टअटैक के कारण फरवरी 2017 में उनकी मौत हो गई थी। परिवार के मुखिया की मौत के बाद पत्नी सविता मरकाम को अनुकम्पा नियुक्ति के लिए आवेदन देने का मौका दिया गया। उन्होंने खुद नौकरी न लेते हुए अपने 5 वर्षीय बेटे गजेंद्र मरकाम को पदस्थ करने के सभी अहम कागजातों के साथ शपथ-पत्र दिया था। जिसकी जांच उपरांत बच्चे को कटनी में बाल आरक्षक के रूप में ज्वाइनिंग लेटर दिया गया।

एएसपी जैन ने बताया कि मरकाम परिवार मूलत: सिवनी का रहने वाला है और नरसिंहपुर से उक्त प्रकरण उनके पास आया था। बाल आरक्षक से किसी प्रकार का कार्य नहीं लिया जाएगा और आधा वेतन प्रदान किया जाएगा। बाल आरक्षक कटनी में रहकर पढाई करता चाहता है तो आवेदन करने पर उसे पुलिस क्वार्टर भी प्रदान किया जाएगा। बाल आरक्षक रहते हुए वह सिर्फ शिक्षा प्राप्त करेगा और 18 वर्ष की आयु में निर्धारित योग्यता पूर्ण करने पर उसे आरक्षक के पद पर नियुक्ति प्रदान की जाएगी। 
 

विस्तार

महज पांच वर्ष के बच्चे को बाल आरक्षक के पद पर नियुक्ति प्रदान की गई है। मामला कटनी जिले का है। पूरे प्रदेश सबसे छोटी उम्र के बाल आरक्षक को एसएसपी सुनील जैन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया है। बाल आरक्षण को आधा वेतन सहित अन्य सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

कटनी एसएसपी सुनील कुमार जैन के अनुसार नरसिंहपुर जिले में श्याम सिंह मरकाम प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ थे। वे पुलिस वाहन चालक थे और हार्टअटैक के कारण फरवरी 2017 में उनकी मौत हो गई थी। परिवार के मुखिया की मौत के बाद पत्नी सविता मरकाम को अनुकम्पा नियुक्ति के लिए आवेदन देने का मौका दिया गया। उन्होंने खुद नौकरी न लेते हुए अपने 5 वर्षीय बेटे गजेंद्र मरकाम को पदस्थ करने के सभी अहम कागजातों के साथ शपथ-पत्र दिया था। जिसकी जांच उपरांत बच्चे को कटनी में बाल आरक्षक के रूप में ज्वाइनिंग लेटर दिया गया।

एएसपी जैन ने बताया कि मरकाम परिवार मूलत: सिवनी का रहने वाला है और नरसिंहपुर से उक्त प्रकरण उनके पास आया था। बाल आरक्षक से किसी प्रकार का कार्य नहीं लिया जाएगा और आधा वेतन प्रदान किया जाएगा। बाल आरक्षक कटनी में रहकर पढाई करता चाहता है तो आवेदन करने पर उसे पुलिस क्वार्टर भी प्रदान किया जाएगा। बाल आरक्षक रहते हुए वह सिर्फ शिक्षा प्राप्त करेगा और 18 वर्ष की आयु में निर्धारित योग्यता पूर्ण करने पर उसे आरक्षक के पद पर नियुक्ति प्रदान की जाएगी। 

 



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Categories