Jee Main 2022 Candidates Can Not Choose Or Change Exam Centers - Jee Main 2022: जेईई मेन में परीक्षा केंद्र चुनने की आजादी भी खत्म, 500 से ज्यादा शहरों में हाइब्रिड मोड में होंगे एग्जाम - News Box India
Connect with us

Hindi

Jee Main 2022 Candidates Can Not Choose Or Change Exam Centers – Jee Main 2022: जेईई मेन में परीक्षा केंद्र चुनने की आजादी भी खत्म, 500 से ज्यादा शहरों में हाइब्रिड मोड में होंगे एग्जाम

Published

on


सार

JEE Main 2022: बीते साल तो एनटीए ने छात्रों को अपनी मर्जी से नजदीकी परीक्षा केंद्र चुनने की छूट दी थी। लेकिन इस बार छात्र द्वारा आवेदन पत्र में दिए पते (एड्रेस) के आधार पर ही परीक्षा केंद्र अलॉट किया जाएगा।

ख़बर सुनें

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी की ओर से जेईई मेन 2022 सूचना पुस्तिका में दिए गए विस्तृत विवरण के अनुसार, इस बार जेईई मेन परीक्षार्थी अपनी पसंद के आधार पर परीक्षा केंद्र नहीं चुन पाएंगे। बीते साल तो एनटीए ने छात्रों को अपनी मर्जी से नजदीकी परीक्षा केंद्र चुनने की छूट दी थी। लेकिन इस बार छात्र द्वारा आवेदन पत्र में दिए पते (एड्रेस) के आधार पर ही परीक्षा केंद्र अलॉट किया जाएगा। हालांकि, बीते साल कोरोना संक्रमण और पाबंदियों के बीच, न्यूनतम दूरी की यात्रा करने पड़े इसलिए एनटीए ने छात्रों को परीक्षा केंद्र चुनने का विकल्प दिया था। 

 

500 से ज्यादा शहरों में बनेंगे परीक्षा केंद्र, 13 विदेश में भी

इस साल यानी 2022 के लिए जेईई मेन परीक्षा देश के 501 परीक्षा शहरों व विदेशों के 13 शहरों में आयोजित की जाएगी। इस बार कोटा समेत राजस्थान के 24 शहरों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। छात्रों से आवेदन पत्र में आधार की जानकारी भी मांगी जा रही है। वहीं, परीक्षा केंद्रों पर प्रवेश-पत्र वाली फोटो की रियल टाइम क्रॉस चेकिंग होगी।  

 

बोर्ड परीक्षा पात्रता मानदंड में रियायत

एनटीए की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार स्टूडेंट्स को इस वर्ष भी एनआईटी, ट्रिपल आईटी व जीएफटीआई में प्रवेश के लिए बोर्ड परीक्षा पात्रता मानदंड में रियायत दी गई है। कोविड-19 महामारी के कारण पिछले दो वर्षों से बोर्ड पात्रता में यह रियायत दी जा रही थी।

 

हाइब्रिड मोड में होगी परीक्षा 

इस बार जेईई बीआर्क परीक्षा हाइब्रिड मोड में आयोजित की जाएगी। बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर पेपर में सीबीटी के अलावा पेन-पेपर मोड में भी परीक्षा देनी होगी। इसमें गणित, एप्टीट्यूड परीक्षण आदि के कुल 82 प्रश्न पूछे जाएंगे। साथ ही ए-4 आकार की ड्रॉइन्गशीट पर पेन और पेपर मोड में भी कुछ सवाल हल करने होंगे। 

 

बी प्लानिंग की परीक्षा में होंगे 105 प्रश्न

वहीं, बैचलर ऑफ प्लानिंग की परीक्षा सीबीटी आधारित होगी। इसमें गणित, एप्टीट्यूड व प्लानिंग विषयों पर आधारित कुल 105 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक पेपर में दो खंड होंगे। भाग ए में बहुविकल्पीय प्रश्न और भाग बी में ऐसे प्रश्न होंगे, जिनके उत्तरों को संख्यात्मक मूल्य के रूप में भरना है। 

 

बीई और बीटेक के लिए 75 प्रश्न हल करने होंगे

हालांकि, बीई और बीटेक के लिए सीबीटी यानी कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी। इसमें गणित, भौतिकी व रसायन शास्त्र विषय के कुल 90 प्रश्न पूछे जाएंगे। सेक्शन ए में फिजिक्स, कैमिस्ट्री व मैथ्स के 20-20 प्रश्न एमसीक्यू होंगे। सेक्शन बी में प्रत्येक विषय से 10-10 प्रश्न न्यूमेरिक वैल्यू बेस्ड पूछे जाएंगे। सेक्शन बी में 10 में से कोई 05 प्रश्न विद्यार्थियों को हल करने होंगे। इस प्रकार 90 प्रश्नों में से 75 प्रश्न विद्यार्थियों को हल करने होंगे। सही जवाब के लिए चार अंक मिलेंगे तो वहीं, गलत जवाब के लिए एक अंक काटा जाएगा। जबकि गत वर्ष तक न्यूमेरिकल वैल्यू बेस्ड प्रश्नों पर नेगेटिव मार्किंग नहीं होती थी।

विस्तार

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी की ओर से जेईई मेन 2022 सूचना पुस्तिका में दिए गए विस्तृत विवरण के अनुसार, इस बार जेईई मेन परीक्षार्थी अपनी पसंद के आधार पर परीक्षा केंद्र नहीं चुन पाएंगे। बीते साल तो एनटीए ने छात्रों को अपनी मर्जी से नजदीकी परीक्षा केंद्र चुनने की छूट दी थी। लेकिन इस बार छात्र द्वारा आवेदन पत्र में दिए पते (एड्रेस) के आधार पर ही परीक्षा केंद्र अलॉट किया जाएगा। हालांकि, बीते साल कोरोना संक्रमण और पाबंदियों के बीच, न्यूनतम दूरी की यात्रा करने पड़े इसलिए एनटीए ने छात्रों को परीक्षा केंद्र चुनने का विकल्प दिया था। 

 



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Categories